Friday, 23 September 2016

जबरजस्त चुटकले मोदी ने बनाया केजरीवाल का चुटकला

अरे 👸 पगली ये 👸👈 तेरा चेहरा है या
🍌 केले का छिलका…
👀 देखते ही 😍 अपना ❤ दिल 💏
फिसल गया…
😅😅

😊😊😊😊
यह लीजिये तमाम मेरे दोस्तो के लिए शायरी की भरमार.....

अब कोई अपना रिकॉर्ड तोड़ के दिखाइए................
😜😜😜😜😜
(2)
तुम्हारी इस अदा का क्या जवाब दू,
अपने दोस्त को क्या उपहार दू,
कोई अच्छा सा फूल होता तो माली से
मंगवाता,
जो खुद गुलाब है उसको क्या गुलाब दू…

(3)
आपकी मुस्कराहट ने हमें बेहोश कर
दिया,
आपकी मुस्कराहट ने हमें बेहोश कर
दिया,
हम होश में आने ही वाले थे,
की आपने फिर से मुस्कुरा दिया.

(4)
बिना दर्द के आंसू बहाये नहीं जाते,
बिना प्यार के रिश्ते निभाए नहीं जाते,
ऐ दोस्त 1 बात याद रखना बिना दिल दिए
दिल पाये भी नहीं जाते.

(5)
मस्त नज़रों से देख लेना था
अगर तमन्ना थी आज़माने की,
हम तो बेहोश यू. ही हो जाते
क्या ज़रुरत थी मुस्कुराने की.

(6)
बड़ी मुद्दत से चाहा है तुझे,
बड़े दुआओं से पाया है तुझे,
तुझे भूलने की सोचो भी तो कैसे,
किस्मत की लकीरों से चुराया है तुझे!

(7)
एक नज़र तेरी कहर ढाती है,
एक तेरी चाल लहराती है,
दुआ देते हैं हम जब तू आती जाती है,
गिरतें हैं लोग और तू हस्ती जाती है…

(8)
ज़िन्दगी एक फूल है और मोहब्बत उस का
शहद
प्यार एक दरिया है, और मेहबूब उसकी
सरहद.

(9)
दिल को मानना गर होता आसान,
न करता किसी को यूँ ये परेशान,
तनहा न रहता भरी महफ़िल में,
न होती वह हालत जो हो न सके बयान.

(10)
तपिश सूरज की होती है, जलना ज़मीन को
परता है क़ुसूर आँखों का होता है,
तरप्ना दिल को परता है.

(11)
कोई आँखों आँखों से बात कर लेता है,
कोई आँखों आँखों में मुलाकात कर
लेता है,
मुश्किल होता है जवाब देना,
जब कोई खामोश रहकर भी सवाल कर लेता
है

(12)
किस्मत से अपनी सबको शिकायत क्यों है,
जो नहीं मिल सकता उसी से मोहब्बत क्यों है,
कितने खड़े है रहो पे,
फिर भी दिल को उसी की चाहत क्यों है.

(13)
चाँद की रातों में सारा जहाँ सोता है,
लेकिन किसी की यदून में कोई बदनसीब
रोता है,
खुद किसी को मोहब्बत पे फ़िदा न करे,
अगर करे तो किसी को जुड़ा न करे

(14)
खुदा जब हुस्न देता है नज़ाकत आए ही
जाती है,
कदम चुन चुन कर रखती हो…..
फिर भी कमर बलखा ही जाती है…..

(15)
यूँ दुर्र रहकर दूरियों को बढ़ाया नहीं
करते,
अपने दीवानो को सताया नहीं करते,
हर वक़्त बस जिसे तुम्हारा ख्याल हो,
उसे अपनी आवाज़ के लिए तड़पाया नहीं करते

(16)
ज़माने से नहीं तो तन्हाई से डरता हु,
प्यार से नहीं तो रुस्वाई से डरता हु,
मिलने की उमंग बहोत होती है दिल में,
लेकिन मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरता हु

(17)
हम तेरे दिल में रहेंगे एक याद बनकर,
तेरे लैब प् खिलेंगे मुस्कान बनकर,
कभी हमें अपने से जुड़ा न समझना,
हम तेरे साथ चैलेंज आसमान बनकर

(18)
कुछ नशा तो आपकी बात का है
कुछ नशा तो धीमी बरसात का है
हमें आप युही शराबी न कहिये,
यह दिल पर असर तो आपसे मुलाक़ात का है

(19)
दिल से तुम्हे कैसे मिटा दे,
हम तुम्हे कैसे भूला दे.
जी तो चाहता है दुनिया चोर दे,
या फिर जुदाई देने वाले इन दुनिया वालो को
फोड़ दे.

(20)
यह मत पूछो तुम बिन हम क्या क्या खोते
रहे,
तुम्हारी यादों में हम रोज़ कितने रट
रहे,
न दिन गुजरे है न रातें,
बस कुछ बेचैन से हम होते रहे!

(21)
तुम्हारी लवली आँखों ने,
हमें ऐसे अत्त्रक्ट किया,
के सबको नेग्लेक्ट करके,
तुम्हे ही सेलेक्ट किया.

(22)
न खुद दिल बनता न किसीसे प्यार होता,
न किसीकी याद अति न किसीका इंतज़ार होता.
दिल दिया है इसे संभल के रखना,
शीशे से बना है पत्थर से दूर रखना!

(23)
अगर हम न होते तो ग़ज़ल कौन कहता,
आप के चेहरे को कमल को कहता,
यह तो करिश्मा है मोहब्बत का,
वार्ना पथरो को ताजमहल कौन कहता

(24)
चाहो तो दिल से हमको मिटता देना
चाहो तो हमको भुला देना
पर यह वडा करो की आये जो कभी याद
हमारी
तो रोना नहीं बस मुस्कुरा देना…

(25)
तरसती नज़रों की प्यास हो तुम,
तड़पते दिल की आस हो तुम,
बुजती ज़िन्दगी की सास हो तुम,
फिर कैसे न कहु?.. कुछ खास हो तुम.

(26)
आँखों में अरमान दिया करते है,
हम सबकी नींद चुरा लिया करते है,
अब से जब जब आपकी पलके झपकेगी…..
समाज लेना तब तब हम आपको याद किया
करते है…..!

(27)
सबने कहा इश्क़ दर्द है,
हमने कहा ये दर्द काबुल है,
सबने कहा इस दर्द के साथ जी नहीं पाओगे,
हमने कहा इस दर्द के साथ मारना काबुल
है

(28)
काश तुम मुझे एक खत लिख देते,
मुझमे क्या क्या थी कमी यह तो बता देते,
तड़पते दिल से मेरे तुमने नफरत क्यों की,
नफरत की ही मुझे कोई वजह तो बता देते.

(29)
रात होगी तो चाँद दुहाई देगा,
ख़्वाबों में आपको वह चेहरा दिखाई
देगा,
ये मोहब्बत है ज़रा सोचके करना,
एक आंसू भी गिरा तो सुनाई देगा.

(30)
इश्क़ वाले आँखों की बात समझ लेते है,
सपनो में मिल जाये तो मुलाकात समझ लेते
है,
रोता तो आसमा भी है प्यार क लिए,
पर लोग उसे बरसात समझ लेते है.

(31)
चेहरे पे हसीं चा जाती है
आँखों मैं सुरूर आए जाता है
जब तुम मुझे अपना कहते हो
अपने पे ग़ुरूर आ जाता है

(32)
खूब आती है जब
याद तेरी बहोत सताती है,
धुप मैं,छाँव मैं, घटाओ.न
मई.न,
तेरी सूरत उभर क आती है

(33)
तारे आसमान में ही चमकते है,
बदल इतने दूर है, फिर भी बरसते है,
हम भी कितने अजीब है,तुम दिल में रहते
हो,
और हम तुमसे मिलने को तरसते है

(34)
आसमान से ऊँचा कोई नहीं,
सागर से गहरा कोई नहीं,
यूँ तो मुझको सभी प्यारे है,
पर आपसे प्यारा कोई नहीं

(35)
आज उस खुद की शरारत समझ में आई,
इस धरती पर आपकी मौजूदगी समझ आई,
आपको इस धरती पर भेजना उस खुद का
बहन था,
क्यों की हमारे लिए आपको आना ही था.

(36)
किस्मत में जिसकी आप, उसे जिंदगी से क्या
चाहिए,
धड़कन में जिनकी आप, उसे दुनिआ से क्या
चाहिए,
हम तो जीते है आप क लिए, वरना इन
साँसों से क्या चाहिए.

(37)
काश दिल की आवाज़ में इतना असर हो जय,
हम आपको याद करें और आपको खबर हो
जय,
आज कूड़ा से इतनी ही दुआ है, आप जो भी
चाहो वो हक़ीक़त हो जय.

(38)
खुशबू तेरे प्यार की मुझे महका जाती है,
तेरी हर बात मुझे बहका जाती है,
साँसें तो बहुत देर लेती है आने जाने में,
हर सांस क पहले मुझे तेरी याद आती है.

(39)
पानी को पत्थर न मारो उसे भी कोई पिता
है,
जिन है तो मुस्कुराकर जियो, तुम्हे देखकर
कोई और भी जीता है.

(40)
किसी क धड़कते दिल क पीछे कोई बात होते
है,
किसी क उदास दिल क पीछे कोई याद होती है,
आप को पता हो या न हो,
आप क ख़ुशी क लिए कहीं रोज़ फरियाद होती
है.

(41)
जान है हमे जान से प्यारी,
जान क लिए छोड़ दू दुनिआ साडी
जान क लिए छोड़ दू रस्मे साडी,
अब तुमसे क्या छुपाना,
तुम ही तो हो जान हमारी.

(42)
तू क्या जाने क्या है तन्हाई,
इस टूटे हुए दिल से पूछ क्या है जुदाई,
बेवफाई का इलज़ाम न दे ज़ालिम,
इस वक़्त से पूछ किस वक़्त तेरी याद नहीं आई.

(43)
युहीं ही सपनो से दिल को लगाया करो,
किसी क ख़्वाबों में आया जाया करो,
जब भी दिल कहे की कोई तुम्हे भी मनाये,
बस हमें याद कर क रूत जाया करो.

(44)
मैंने खुद से एक दुआ मांगी,
दुआ में अपनी मौत मांगी,
खुद ने कहा मौत तो तुझे दे दूँ,
पर उसका क्या जिसने हर दुआ में तेरी जिंदगी
मांगी.

(45)
करते नहीं इज़हार
फिर क्यों करते हो तुम प्यार?
नज़रों से बाटे बहुत हुई
अब लैब से करो इकरार…

(46)
सुना है वक़्त के साथ हालत बदल जाते
हैं
इंसान बदल जाते हैं, जज़्बात बदल जाते
हैं
पर तुम न बदलोगे, ये ऐतबार करता हूँ
मैं तुमसे प्यार करता हूँ
मैं तुमसे प्यार करता हूँ

(47)
जाम पे जाम पीने से क्या फायदा,
रात गुज़री तो उत्तर जाएगी,
किसी की आँखों से पीयो खुद की कसम,
उम्र साड़ी नशे में गुज़र जाएगी.

(48)
वह ज़िन्दगी ही क्या जिसमे मोहब्बत नहीं,
वह मोहब्बत ही क्या जिसमे यादें नहीं,
वह यादें क्या जिसमे तुम नहीं,
और वह तुम ही क्या जिसके साथ हम नहीं.

(49)
हमने सोचा था की शायद, हम ही चाहते
है तुमको,
पर तुम्हे चाहने वाला तो काफिला निकला,
दिल ने कहा शिकायत कर खुद से,
पर खुद भी तेरा चाहने वाला निकला.

(50)
जब जब आपसे मिलने की उम्मीद नज़र आई…
मेरे पाँव में ज़ंजीर नज़र आई..
गिर पड़े आंसू आँख से…
और हर एक आंसू में आपकी तस्वीर नज़र
आई.

(51)
दिल के रिश्ते भी अजीब होते है..
दूर रह कर भी करीब होते है…
जो लोग आपको रोज़ देखते है..
वह लोग कितने खुशनसीब होते है..

(52)
चेहरे पे हसीं छ जाती है,
आँखों मैं सुरूर आए जाता है,
जब तुम मुझे अपना कहते हो,
अपने पे ग़ुरूर आ जाता है.

(53)
ज़िन्दगी जैसे एक सजा सी हो गए है,
गम के सागर में इस कदर खो गयी है,
तुम आजाओ वापिस यह गुजारिश है मेरी….
शायद मुझे तुम्हारी आदत सी होगयी है.

(54)
पानी का एक कटरा आँख से गिरा अभी अभी..
क्या तुम ने मुझको याद किया अभी अभी..
तुझ से मिले ज़माना हुआ मगर…
यूँ लगा कोई मुझसे मिल क गया अभी अभी..

(55)
शाम ढली, रात आई दिल धड़का – फिर
तुम्हारी याद आई,
आँखों ने महसूस किया उस हवा को – जो
तुम्हे चुकार हमारे पास आई.

(56)
याद में तेरी आहे भरता है कोई,
हर सांस क साथ तुझे याद करता है कोई,
मौत तो सचाई है आणि है…..
लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज़ मरता है
कोई….!

(57)
तम्मना से नहीं तन्हाई से डरते हैं,
प्यार से नहीं रुस्वाई से डरते हैं,
मिलने की तो बोहत चाहत है……..
पर मिलने क बाद जुदाई से डरते हैं

(58)
एहसास बहुत होगा जब छोर क जाएंगे,
रोएंगे बहुत मगर आंसू नहीं आएँगे,
जब साथ न दे कोई तो आवाज़ हमे देना
आसमान पैर भी होंगे तो लौट क आएँगे.

(59)
क्या मांगू खुद से तुम्हे पाने क बाद.
किसका करू इंतज़ार ज़िंदगी में तेरे आने क
बाद.
क्यों प्यार में जान लूटा देता है लोग…..
मुझे मालूम हुआ तुम्हे अपना बनाने क
बाद.

(60)
दिल तोडना हमारी आदत नहीं,
दिल हम किसी का दुखते नहीं,
भरोसा रखना मेरी वफाओं पे…..
दिल में बसा क हम किसी को भूलते नहीं..

(51)
दिल के रिश्ते भी अजीब होते है..
दूर रह कर भी करीब होते है…
जो लोग आपको रोज़ देखते है..
वह लोग कितने खुशनसीब होते है..

(52)
चेहरे पे हसीं छ जाती है,
आँखों मैं सुरूर आए जाता है,
जब तुम मुझे अपना कहते हो,
अपने पे ग़ुरूर आ जाता है.

(53)
ज़िन्दगी जैसे एक सजा सी हो गए है,
गम के सागर में इस कदर खो गयी है,
तुम आजाओ वापिस यह गुजारिश है मेरी….
शायद मुझे तुम्हारी आदत सी होगयी है.

(54)
पानी का एक कटरा आँख से गिरा अभी अभी..
क्या तुम ने मुझको याद किया अभी अभी..
तुझ से मिले ज़माना हुआ मगर…
यूँ लगा कोई मुझसे मिल क गया अभी अभी..

(55)
शाम ढली, रात आई दिल धड़का – फिर
तुम्हारी याद आई,
आँखों ने महसूस किया उस हवा को – जो
तुम्हे चुकार हमारे पास आई.

(56)
याद में तेरी आहे भरता है कोई,
हर सांस क साथ तुझे याद करता है कोई,
मौत तो सचाई है आणि है…..
लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज़ मरता है
कोई….!

(57)
तम्मना से नहीं तन्हाई से डरते हैं,
प्यार से नहीं रुस्वाई से डरते हैं,
मिलने की तो बोहत चाहत है……..
पर मिलने क बाद जुदाई से डरते हैं

(58)
एहसास बहुत होगा जब छोर क जाएंगे,
रोएंगे बहुत मगर आंसू नहीं आएँगे,
जब साथ न दे कोई तो आवाज़ हमे देना
आसमान पैर भी होंगे तो लौट क आएँगे.

(59)
क्या मांगू खुद से तुम्हे पाने क बाद.
किसका करू इंतज़ार ज़िंदगी में तेरे आने क
बाद.
क्यों प्यार में जान लूटा देता है लोग…..
मुझे मालूम हुआ तुम्हे अपना बनाने क
बाद.

😇😇😇😇😇😇😇😇😇😇😇

एक शराबी पूरा टून्न हो कर घर जा रहा था!😇

😇रास्ते में मंदिर के बाहर पुजारी दिखा!🛤

😇शराबी ने पुजारी से पूछा सबसे बड़ा कौन?😇

😇उस से पीछा छुड़ाने के लिए पूजारी ने कहा ये मंदिर बड़ा😜

😇शराबी बोला मंदिर बड़ा तो धरती पर कैसे खड़ा!🕍🕋🕋🏛⛪⛪⛪🕌

👌🏻पुजारी: धरती बड़ी!🌎

शराबी: धरती बड़ी तो शेषनाग पर क्यों खड़ी?👌🏻🌎🌎🌎
👌🏻
पुजारी: शेषनाग बड़ा!👌🏻🐍🐍🐍

👌🏻शराबी: शेषनाग बड़ा तो शिव के गले में क्यों पड़ा!🐍🐍🐍

पुजारी: शिव बड़ा!👌🏻

👌🏻शराबी: शिव बड़ा तो पर्वत पर क्यों खड़ा?🙃🙃🙃🙃

पुजारी: पर्वत बड़ा!👌🏻🏔🏔🏔🏔

👌🏻शराबी: पर्वत बड़ा तो हनुमान की ऊँगली पर क्यों पड़ा?👌🏻

👌🏻पुजारी: हनुमान बड़ा!🐒

शराबी: हनुमान बड़ा तो राम के चरणों में क्यों पड़ा?👌🏻🐾

👌🏻पूजारी: राम बड़ा!🌺

शराबी: राम बड़ा तो रावण के पीछे क्यों पड़ा?👌🏻

👌🏻पूजारी: अरे मेरे बाप तू बता कौन बड़ा?
👌🏻
शराबी: इस दुनिया में वो बड़ा
जो पूरी बोतल पीकर भी सीधा खड़ा !👌🏻
        New in market👌🏻👌🏻👌🏻😜😜😜😜😜😜😜😜😜😜😜😂😂😂😂

छोरो : थारो नाम के हैं ?
छोरी : मेरो नाम 💡🔦🕯हैं।
छोरो : के🙄🙄??????

छोरी : रोशनी नाम हैं मेरो🤗

छोरी : थारो नाम के हैं ?
छोरो : मेरो नाम गुजरात,महाराष्ट्र,पंजाब,मध्यप्रदेश,
ओरिस्सा, बंगाळ....हैं
छोरी:- के🙄🙄??????

छोरो: बावली मेरो नाम "राज्यो" हैं "राज्यो" .!!!😂😂😆

केवल पुरूषों के लिए आज का ज्ञान ....

जब कोई सुन्दर युवती, बिलकुल बिंदास होकर, बेझिझक आपकी बगल वाली सीट पर आकर बैठ जाए.....
😜 😜
.

तो समझ जाईये कि,
अब आप युवा नहीं रहे... .......uncle ho Gaye hai

ज्ञान समाप्त
😂😂😜😜

0 comments:

Post a Comment