Monday, 17 October 2016

Mast joks...

Mast joks

S.noजोक्स नीचे देखे
Iएक छोटी लड़की ने अपनी दादी से पूछा, 'दादी मां, रोज रात को हमारे घर एक आदमी और एक औरत आते हैं और सुबह गायब हो जाते हैं। वे दोनों कौन हैं?' दादी मां : 'हे भगवान, तो तूने उन्हें देख लिया। बेटी, वे दोनों तेरे मम्मी-पापा हैं, जो कई साल से नोएडा में हमारे साथ रहते हैं और गुड़गांव में जॉब करते हैं।

II
अध्यापक (छात्रों से): उसने आत्महत्या कर ली और उसे आत्महत्या करनी पड़ी। इन दोनो में अंतर बताओ।

छात्र : सर, पहले वाक्य से व्यक्ति के अविवाहित होने और दूसरे से उसके विवाहित होने का पता चलता है।




III
मास्टर जी ने स्टूडेंट का लंच पूरा खा लिया और डकारते हुए बोले : बेटा, घर जाकर मेरा नाम तो नहीं लोगे कि मैंने तुम्हारा लंच खा लिया...

बच्चा मासूमियत के साथ : नहीं मास्टर जी, मैं घर जाकर बोल दूंगा कि...

कि मेरा खाना कुत्ता खा गया...



IV
लड़का: I Love you

लड़की: लेकिन मैं किसी और से प्यार करती हूं।

लड़का: ओके, कोई बात नहीं। मेरे लिए तो तुम्हारी खुशी ही सबसे बड़ी चीज है।

इस कहानी से शिक्षा मिलती है कि जहां और कुछ नहीं कर सकते, वहां डायलॉग तो अच्छा मार ही देना चाहिए।





V
2 बच्चों की मां तीसरी शादी कर रही थी। फेरों के टाइम एक बच्चा रोने लगा। मां का जवाब सुनकर दूल्हा बेहोश हो गया।

मां बोली, चुप हो जा, नहीं तो अगली बार नहीं लाऊंगी।




VI
लड़की- तुम सारे लड़के एक जैसे ही क्यों होते हो?

लड़का- ऐक्चुअली हम मेकअप नहीं करते न।




VII
चम्पूजी को देखने गए घरवालों ने उनको बात करने के लिए अकेले बैठा दिया।

लड़की डरते हुए- भाई आप कितने भाई-बहन हो!!

चम्पूजी-अभी तक तो 3 थे अब 4 हो गए।




VIII
रामू हर रोज नए जूते पहनकर काम करने जाता था।

रामू के मित्रों को रहा नहीं गया।

उन्होंने रामू को पूछा, यार रामू क्या तुमने जूते की दुकान खोल रखी है जो रोज नए जूते पहनकर आते हो।

रामू हंसकर बोला, नहीं यार मेरे घर के सामने नया मंदिर बन गया है।




IX
एक बच्चे ने पिता से एक शादी समारोह में पूछा-पापा, शादी के मंडप में दूल्हा, दुल्हन का हाथ क्यों पकड़ता है?

पिता ने लंबी सांस भरते हुए कहा- बेटा यह तो एक रस्म है, कुश्ती से पहले पहलवान भी अखाड़े में हाथ मिलाते हैं।






X
पार्क के किनारे एक युवती को अकेला पाकर पोंचूजी हाथ में फूल लिए उसका पीछा कर रहे थे।

युवती- तुम्हे पता है! पीछे मेरी मां आ रही हैं?

पोंचूजी- अरे, हम तो खानदानी आशिक है। तुम्हारी मां के पीछे मेरे पिताश्री आ रहे है।

0 comments:

Post a Comment